नई दिल्ली. उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर की डीएम बी.चंद्रकला ने विकास कार्यों और भ्रष्टाचारियों के खिलाफ मोर्चा खोलकर अपनी खास पहचान बना ली है.

बी. चंद्रकला का जन्म तेलंगाना के करीमनगर जिले में हुआ था. वह 2008 बैंच की यूपी कैडर की IAS हैं. उन्होंने सेंट्रल स्कूल से 12वीं पास की है और ग्रेजुएशन के लिए हैदराबाद के कोटि वुमन्स कॉलेज में एडमिशन लिया था.

बी. चंद्रकला के आईएएस बनने का सफर संघर्षों से भरा रहा है. शादी के बाद उन्होंने डिस्टेंस एजुकेशन के जरिए अर्थशास्त्र में पोस्ट ग्रेजुएशन किया. इसके बाद यूपीएससी परीक्षा पास करने के लिए कड़ी मेहनत की और इसे पूरा करके दिखाया. उनकी 10 साल की एक बेटी भी है.

जब लेडी सिंघम ने उठाई बंदूक

भ्रष्टाचार के खिलाफ ईंट से ईंट बजाने वाली डीएम बी चन्द्रकला ने अब बंदूक उठा ली है. कुछ दिन पहले पुलिस लाइन में आयोजित एंटी-रॉइट ड्रिल में डीएम ने ग्राम प्रधान चुनाव के मद्देनजर दंगा निरोधक हथियार चलाने का प्रशिक्षण लिया था.

मास्टर साहब की ली जमकर क्लास

डीएम बी चंद्रकला ने बुलंदशहर के एक स्कूल में बच्चों के सामने टीचर की जमकर क्लास ली.  डीएम औचक निरीक्षण करने स्कूल पहुंची जहां बच्चों से कई छोटे-छोटे सवाल किए लेकिन कोई बच्चों ने कोई जवाब नहीं दिया.

भ्रष्टाचारियों के खिलाफ मोर्चा खोलकर अपनी खास पहचान बना ली है. अपनी विकासपरक सोच की वजह से वह महिलाओं के बीच लोकप्रिय हुई हैं. उनकी लोकप्रियता की सबसे बड़ी वजह जनता और खुद के बीच के फासले को कम करना रहा है. वह जनता की समस्याएं बंद कमरे की बजाए ऑफिस के बरामदे में सुनना पसंद करती हैं.

वीडियो में देंखे पूरा शो