नई दिल्ली. देश की राजधानी दिल्ली में आठ सितंबर के दिन एक मासूम बच्चे की डेंगू से मौत हो गई. इसके बाद उस बच्चे के मां-बाप ने खुदकुशी कर ली. वे बेबस हो गए थे क्योंकि डेंगू से पीड़ित अपने बेटे के लिए दिल्ली के अस्पतालों में एक बेड तक का जुगाड़ नहीं कर पाए थे.
 
इस घटना के बाद उम्मीद बंधी थी कि शायद डेंगू से निपटने के लिए अब केंद्र और दिल्ली की सरकारें जागेंगी. लेकिन इसके बाद भी आज सरकारी दावों के बीच दिल्ली में एक और मासूम की जान डेंगू से हार गई, क्योंकि मरीजों की भीड़ के बीच दिल्ली के पांच अस्पतालों में उस छह साल के बच्चे के लिए जगह नहीं थी. अब ये सवाल बीच बहस में है कि आखिर दिल्ली में डेंगू से होने वाली मौतों के लिए जिम्मेदार कौन है? क्यों डेंगू के आगे इतनी लाचार हो गई है दिल्ली?
 
वीडियो पर क्लिक करके देखिए पूरा शो: