नई दिल्ली. आसाराम केस के गवाह कृपाल सिंह की हत्या में पुलिस ने आसाराम को कटघरे में खड़ा कर दिया है. शाहजहांपुर पुलिस का दावा है कि आसाराम के गुर्गे नारायण पांडे ने अपने साथियों के साथ मिलकर कृपाल सिंह की हत्या कराई. हालांकि नारायण पांडे आरोपों से इंकार कर रहा है लेकिन एक बात कबूली है कि वह आसाराम का भक्त है.

ऐसे में आज बीच बहस में मुद्दा है कि क्या आसाराम के भक्त ने करवाई अहम गवाह की हत्या ?  क्या आसाराम के गवाहों पर जो हमले हुए हैं उनका कनेक्शन सीधे-सीधे आसाराम से जुड़ता दिख रहा है ?