नई दिल्ली. आम आदमी पार्टी के मुखिया और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल को जनता ने दिल्ली चुनाव से पहले जमकर चंदा दिया था. उन पैसों के बल पर केजरीवाल चुनाव लड़े, जीते और सरकार बनाई. लेकिन सरकार बनाने के बाद केजरीवाल फिर जनता के सामने झोली फैलाकर खड़े हो गए हैं. 

केजरीवाल ने लोगों से अपील किया है कि आम आदमी पार्टी के पास पैसों की कमी हो गई है. जबकि दिल्ली में केजरीवाल सरकार जनता से पहले ही टैक्स ले रही है. ऐसे में सवाल उठता है कि जनता टैक्स और चंदे की दोहरी मार क्यों सहे ? जनता केजरीवाल की पार्टी के लिए पैसे क्यों दे ?  (इसी मुद्दे पर वीडियो में देखिए बीच बहस…)