नई दिल्ली. कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी अपने सियासी मिज़ाज के मुताबिक आज अचानक दिल्ली के रघुबीर नगर में रेहड़ी पटरी वालों से मिलने पहुंच गए. खास बात ये है कि इस इलाके में रेहड़ी पटरी का काम करने वाले करीब 75 फीसदी लोग गुजराती हैं, जो दशकों पहले गुजरात से दिल्ली आकर बस गए थे. 

राहुल तो इन लोगों से मिलकर, उनकी समस्याएं सुनकर और मदद का भरोसा देकर चले गए. लेकिन सवाल उठ रहे हैं कि आखिर राहुल ने रेहड़ी पटरी वालों का मुद्दा उठाने के लिए गुजराती समाज के लोगों को ही क्यों चुना ? रघुबीर नगर में राहुल के दौरे के कई सियासी मायने निकाले जा रहे हैं. (पूरी बहस सुनने के लिए वीडियो पर क्लिक करें)