नई दिल्ली. अमूमन हर प्रदेश की सरकार सचिवालय भवन से ही काम करती है और इसी सचिवालय भवन में ही मुख्यमंत्री का भी दफ्तर होता है. लेकिन उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को अपने लिए नया दफ्तर चाहिए. दफ्तर भी ऐसा कि जिसके आगे 5 सितारा सुविधाएं भी शरमा जाएं.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
राजधानी लखनऊ में विधानसभा के ठीक सामने यूपी के सीएम अखिलेश यादव का नया दफ्तर करीब-करीब बनकर तैयार है. और इसी महीने इसका उद्घाटन करने की भी तैयारी है. नया दफ्तर बनाने में 400 करोड़ रुपए खर्च किए गए हैं.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
सवाल उठ रहे हैं कि जनता की गाढ़ी कमाई का पैसा सरकार की विलासिता में बहाकर अखिलेश यादव कौन सा उत्तम प्रदेश बनाने जा रहे हैं ? बजट सत्र के दौरान लोकसभा में रखी गई रिपोर्ट के मुताबिक यूपी के 50 जिले सूखे की चपेट में हैं. ऐसे माहौल में जनता के पैसों की ऐसी बर्बादी क्यों ? इंडिया न्यूज के खास शो ‘बीच बहस में’ इसी अहम मुद्दे पर पेश है चर्चा.
 
वीडियो पर क्लिक करके देखिए पूरी बहस