नई दिल्ली. दिल्ली में मनोज वशिष्ठ के एनकाउंटर को 72 घंटे होने वाले हैं. लेकिन अब तक कथित एनकाउंटर का सच सामने नहीं आया है. जिस रेस्टोरेंट में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के 9 अधिकारियों ने मनोज का एनकाउंटर किया, उसकी सीसीटीवी फुटेज से भी तस्वीर पूरी तरह साफ नहीं है कि पहली गोली मनोज ने ही चलाई. घरवाले आरोप लगा रहे हैं कि साजिश के तहत मनोज की हत्या की गई है.

दिल्ली पुलिस कमिश्नर ने इसे गंभीर आरोप मानते हुए विजलेंस जांच के आदेश दे दिए हैं, और एनकाउंटर से जुड़े सभी 9 पुलिसवालों का तबादला कर दिया गया है. लेकिन ये सवाल अब तक जिंदा है कि मनोज के एनकाउंटर का सच क्या है? क्या मनोज का एनकाउंटर हुआ या वाकई 9 पुलिसवालों ने मिलकर मनोज की हत्या कर दी?