नई दिल्ली. शादी के सात फेरों की कसमें जब बोझ बन जाएं तो ऐसे संबंध से निकल जाना ही बेहतर होता है. बजाय एक दूसरे के खिलाफ दिल में लगातार नफरत का जहर भरते जाने से, क्योंकि ये जहर आखिर में किसी ना किसी की जान ही लेता है.ऐसी ही एक वारदात देश की राजधानी दिल्ली में सामने आई है.
 
गुड़गांव के रहने वाले ललित और मोनिका की शादी 2015 में हुई थी. शादी के बाद से ही पति-पत्नी के संबंधों में खटास आ गई थी. ललित को हकलाने की परेशानी थी, मोनिका उस पर हंसती थी. ललित का शादी से पहले भी एक लड़की के साथ संबंध था. मोनिका को रास्ते से हटाने के लिए ललित ने उसकी सुपारी दे दी. ललित ने अपनी पत्नी की जान का सौदा 8 लाख रु में किया.
 
प्लानिंग के मुताबिक ससुराल जाते वक्त ललित बहाने से गाड़ी से उतर गया. भाड़े के शूटरों ने गाड़ी में बैठी मोनिका की गोली मारकर हत्या कर दी. हमले में मोनिका की 3 महीने की बेटी भी जख्मी हो गई.
 
इंडिया न्यूज के खास शो ‘बीच बहस में‘ इसी अहस सवाल पर पेश है चर्चा.   
 
वीडियो क्लिक करके देखिए पूरा शो