नई दिल्ली. राजधानी दिल्ली में ऑड ईवन आज से फिर शुरू हो गया है और अगले 15 दिनों तक गाड़ियां तारीख के हिसाब से चलेंगी. पिछली बार की ही तरह इस बार भी इस योजना से कई तरह के विवाद जुड़ रहे हैं. 
 
पहला मुद्दा इस बार प्रदूषण की बजाय जाम कम करने पर सरकार का ज्यादा जोर क्यों है ? दूसरा क्या इसकी वजह ये है कि पिछली बार के नतीजों पर उठे विवाद से केजरीवाल सरकार बैकफुट पर आ गई है?
 
तीसरा दरअसल दिल्ली सरकार का दावा है कि पहले चरण में प्रदूषण 13-17 फीसदी तक कम हुआ. वहीं दूसरी ओर कई निजी सर्वे में दावा किया गया पहले चरण में प्रदूषण 15% तक बढ़ गया. एक और अहम मुद्दा ये, कि सरकार कार-पूलिंग को बढ़ावा दे रही है, लेकिन तकनीकी तौर पर महिलाएं इससे बाहर हैं.