नई दिल्ली. सपनों का घर या कोई भी प्रॉडक्ट बेचने हो उसके लिए लोगों के मनपसंद सितारों को सबसे आसान जरिया माना जाता है. अपने चहेते सितारों को ऐसे विज्ञापनों में प्रॉडक्ट की खूबियां गिनाते देखकर ज्यादतर लोग फिसल ही जाते हैं.
 
करोड़ों रुपए लेकर ऐसे विज्ञापन करने वाले सितारों की कोई जिम्मेदारी नहीं होती कि जो दावा वो कर रहे हैं, वो सही हो. लेकिन अब ऐसा नहीं होगा अगर नया कानून बन गया तो झूठे विज्ञापन करने के चक्कर में ये ब्रांड एंबेसडर जेल भी जा सकते हैं.
 
इंडिया न्यूज के खास शो ‘बीच बहस में’ देखिए इस अहम मुद्दे पर चर्चा.
 
 
वीडियो पर क्लिक करके देखिए पूरा शो