नई दिल्ली. लंबे शोर शराबे और विवाद के बाद आखिरकार शनि शिंगणापुर में महिलाओं को बराबरी का अधिकार मिल गया है. मंदिर ट्र्स्ट ने आज बकायदा इस बात का ऐलान किया कि महिलाएं भी शनि चबूतरे तक जाकर पूजा कर सकती हैं, तेल चढ़ा सकती हैं.

लेकिन ट्रस्ट के फैसले के खिलाफ शिंगणापुर के आस-पास के गांवों में विरोध के सुर उठ रहे हैं. सवाल उठता है कि क्या महिलाओं को पुलिस के बगैर बराबरी का अधिकार मिल पाएगा ? और देश के बाकी धर्मस्थलों का क्या, जहां अभी भी महिलाओं पर रोक-टोक जारी है ?

वीडियो में देखें पूरी बहस