नई दिल्ली. 2014 के लोकसभा चुनाव के बाद यूपी में जब घनघोर बिजली संकट खड़ा हो गया था. तब सीएम अखिलेश यादव ने दावा किया था कि दो साल के अंदर यूपी में चौबीस घंटे बिजली मिलने लगेगी.

2 साल हो गए, और इस बार गर्मियों की शुरुआत में ही मऊ से ऐसी तस्वीर आई है कि सीएम अखिलेश यादव इसे देखकर पानी-पानी हो जाएंगे. सरकारी अस्पताल में रात के वक्त बिजली गुल हो गई और भरे अंधेरे में मोमबत्ती जलाकर डॉक्टर इलाज कर रहे हैं.

सोचिए अगर इस दौरान अस्पताल में कोई ऑपरेशन चल रहा होता, या कोई मरीज लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर होता, तो क्या होता ? लेकिन मुश्किल यही है, कि कोई इस बारे में सोचने वाला ही नहीं है. सवाल उठता है कि यूपी में ये अंधेरगर्दी आखिर कब खत्म होगी ?

वीडियो देखें