नई दिल्ली. दिल्ली में केजरीवाल सरकार अब एक नए विवाद में फंस गई है. दिल्ली के लोगों से किया वादा पूरा करने के लिए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने जो दिल्ली डायलॉग कमीशन बनाया था, उसके सचिव आशीष जोशी को एक महीने के अंदर बेआबरू करके हटा दिया गया केजरीवाल सरकार का कहना है कि आशीष जोशी गुटखा खाते हैं और सिगार पीते हैं, जिसके चलते उन्हें हटाया गया. जबकि आशीष जोशी कह रहे हैं कि उन्हें इसलिए हटाया गया, ताकि आशीष खेतान दिल्ली डायलॉग कमीशन में आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं की भर्ती कर सकें.

अब ये सवाल बीच बहस में है कि आखिर आशीष जोशी को हटाने का सच क्या है? क्या गुटखा-सिगार के बहाने आम आदमी पार्टी दिल्ली के नौकरशाहों पर भी तानाशाही चला रही है?