नई दिल्ली. जानलेवा हादसे में घायल लोगों की जिंदगी बचाने के लिए हर सेकंड की बड़ी अहमियत होती है. सही वक्त पर जरूरी सुविधा मिलने से जान बचाना मुश्किल नहीं होता लेकिन उत्तर प्रदेश में सड़क हादसे में घायल एक विधायक की इसलिए मौत हो गई.
 
जानकारी के अनुसार उन्हें अस्पताल ले जा रही एम्बुलेंस में ऑक्सीजन किट ही नहीं थी.  4 घंटे तक उनका दम घुटता रहा और आखिरकार एमएलए ने दम तोड़ दिया. इस बीच इससे सरकारी एम्बुलेंस सेवा पर बड़े सवाल खड़े हो गए हैं. 
 
बता दें कि  उत्तर प्रदेश के लोक निर्माण मंत्री शिवपाल सिंह यादव के बेटे आदित्य यादव की शादी में जा रहे सपा विधायक हाजी इरफान की इस हादसे में मौत हुई  है. खबर है कि हादसे में ड्राइवर के साथ एक अन्य व्यक्ति की मौके पर ही मौत हो गई.  
 
विधायक सहित 6 लोग घायल हो गए जिसमें  घायलों को जिला हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया. लेकिन एंबुलेंस में सुविधा न मिलने और हालत नाजुक की वजह हॉस्पिटल में विधायक को मृत घोषित कर दिया गया.
 
इंडिया न्यूज के खास शो ‘बीच बहस में’ इसी अहम मुद्दे पर होगी चर्चा.
 
 
 
वीडियो क्लिक करके देखिए पूरा शो