नई दिल्ली. 25 जून 1975 की आधी रात हिंदुस्तान में लगे आपातकाल का भूत आज चालीस साल बाद बिहार सरकार के सिर पर मंडरा रहा है. मामला कुछ यूं है कि बिहार सरकार की वेबसाइट में एक लेख अपलोड किया गया था जिसमें आपातकाल को लेकर इंदिरा गांधी के राज की जमकर धज्जियां उड़ाई गईं. जाहिर है लेख पर कांग्रेस को बेहद आपत्ति हुई है. संजोग की बात है कि नीतीश लालू समेत कई नेता उसी जेपी आंदोलन की उपज हैं, जिसकी वजह से इंदिरा गांधी ने इमरजेंसी लगाई थी. इमरजेंसी कांग्रेस की दुखती रग है लेकिन आज बिहार सरकार में नीतीश और लालू, कांग्रेस के भागीदार हैं. 
 
हालांकि सरकारी वेबसाइट से ये तो लेख तुरंत हटा दिया गया लेकिन इस पर जेडीयू और आरजेडी की सफाई बेहद दिलचस्प है. इमरजेंसी, इंदिरा का राज और आज की सियासी समीकरण पर आज इंडिया न्यूज के खास शो बीच बहस में इसी मुद्दे पर चर्चा होगी.