नई दिल्ली. डीडीसीए और दिल्ली के प्रधान सचिव राजेंद्र कुमार पर सीबीआई छापे के मुद्दे पर आज दिल्ली विधानसभा का विशेष सत्र चल रहा है. जैसा कि अंदाजा था, सत्र के दौरान आप के विधायक वित्तमंत्री अरुण जेटली पर आरोपों की बौछार कर रहे हैं .
 
सवाल उठता है कि क्या विशेष सत्र बुलाने के पीछे कोई खास रणनीति है? वजह जो भी हो, एक सवाल जो बार-बार केजरीवाल का पीछा कर रहा है, वो ये है कि आखिर एक निजी कंपनी के मामले में केजरीवाल इतनी दिलचस्पी क्यों ले रहे हैं?
 
डीडीसीए को ना तो सरकारी फंड मिला, ना ही इसमें जनता का पैसा लगा है. तो फिर ये जनहित का मामला कैसे हुआ? अब अगर ये जनहित का मामला नहीं है तो केजरीवाल क्या सिर्फ निजी लड़ाई के लिए विशेष सत्र बुलाकर जनता की गाढ़ी कमाई बर्बाद कर रहे हैं? 
 
वीडियो पर क्लिक करके देखिए पूरा शो: