नई दिल्ली. जापान के प्रधानमंत्री शिंज़ो अाबे ने आज भारत के लोगों को पहली बुलेट ट्रेन की सौगात दे दी. इसके बाद वे पीएम मोदी के साथ वाराणसी के दशाश्वमेध घाट पर गंगा आरती में शामिल हुए. इस दौरान शिंजो आबे ने काशी की आंखों से हिदुस्तान का दर्शन किया. दरअसल काशी ही वो सूत्र है जिसने पीएम मोदी और शिंजो आबे को एक मिशन में पिरो दिया है.
 
मिशन, काशी को उसकी पुरानी शान के साथ सजाने और संवारने का. साल 2014 में पीएम मोदी के जापान दौरे के वक्त काशी को जापान के क्योटो शहर जैसा विकसित करने को लेकर समझौता हुआ था. आज शिंजो आबे की काशी में मौजूदगी, भारत और जापान के इस साझा अभियान को बड़ी ताकत दे सकती है. तो क्या क्योटो जैसी बनेगी काशी ?
 
वीडियो पर क्लिक करके देखिए पूरा शो: