नई दिल्ली. पुलिस के थर्ड डिग्री टॉर्चर के बारे में आपने काफी सुना होगा, शायद कभी देखा भी हो, लेकिन थर्ड डिग्री टॉर्चर की जो तस्वीर आज हम आपको दिखाने जा रहे हैं, वो यकीनन आपके रोंगटे खड़े कर देगी. थाने के अंदर एक आरोपी के साथ तीन पुलिसवालों ने जो सलूक किया,, वो देखकर आप यही कहेंगे कि ये तो अंग्रेजों की पुलिस है और यही हमारा सवाल भी है. आजादी के 68 सालों बाद भी हमारी पुलिस अंग्रेजी राज वाली मानसिकता छोड़ क्यों नहीं पा रही है ?

बीच बहस में आज इन्हीं सवालों पर होगी बहस कि आखिर कानूनी तरीके से काम करने की बजाए पुलिसवाले खुद कानून को हाथ में लेने पर उतारू क्यों हो जाते हैं ? जनता के मददगार बनने की बजाय पुलिसवाले जनता के साथ दुश्मन की तरह पेश क्यों आते हैं ? आखिर पुलिसवालों की ये मानसिकता कौन और कैसे सुधारेगा ?

वीडियो में देंखे पूरा शो