Hindi badi-bahas All India Muslim Personal Law Board, three divorces, Modi government, Uniform Civil Code, Muslim religious leaders, convert islam http://www.inkhabar.com/sites/inkhabar.com/files/field/image/Muslim-personal-law-board-supports-teen-talaq-but-not-supports-Uniform-Civil-Code-why.jpg
Home » Badi Bahas » मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड तीन तलाक का समर्थन और यूनिफॉर्म सिविल कोड का क्यों कर रहा है विरोध

मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड तीन तलाक का समर्थन और यूनिफॉर्म सिविल कोड का क्यों कर रहा है विरोध

मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड तीन तलाक का समर्थन और यूनिफॉर्म सिविल कोड का क्यों कर रहा है विरोध

By Web Desk | Updated: Thursday, October 13, 2016 - 23:11

Muslim personal law board supports teen talaq but not supports Uniform Civil Code why

मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड तीन तलाक का समर्थन और यूनिफॉर्म सिविल कोड का क्यों कर रहा है विरोधMuslim personal law board supports teen talaq but not supports Uniform Civil Code whyThursday, October 13, 2016 - 23:11+05:30
नई दिल्ली. ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने तीन तलाक पर कहा है कि मोदी सरकार अपनी नाकामी छिपाने की कोशिश कर रही है. इसलिए वो तीन तलाक और यूनिफार्म सिविल कोड का मुद्दा उठाने जा रही है. एक मुस्लिम धर्म गुरु ने कहा कि इस्लाम में शादी का रिश्ता पूरी जिंदगी भर का नहीं है, बल्कि जब तक दोनों लोग रजामंद रहें, उस वक्त तक दोनों का रिश्ता रजामंद रहेगा, लेकिन जब दोनों खुश नहीं है तो तलाक महिला भी ले सकती है. 
 
ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने कहा कि लॉ कमीशन ने वेब साइट पर पूरे मुल्क से जवाब मांगा है यूनिफॉर्म सिविल कोड पर. हम लोगो ने प्रश्नों को देखने के बाद महसूस किया कि लॉ कमीशन ने यूनिफॉर्म सिविल कोड लाना चाहता है. सभी 16 सवाल के जवाब यूनिफॉर्म सिविल कोड को लागू करना चाहती है. ये खयानत है धोखाधडी है.
 
लॉ कमीशन केंद्र सरकार के इशारे पर काम कर रही है. लॉ कमीशन के सवाल नामे का बहिष्कार करेंगे. मुल्क के मुसलमान इसका बहिष्कार करेंगे. सवाल नामा निष्पक्ष न होकर एक पक्ष का हो गया.
 
यूनिफॉर्म सिविल कोड इस मुल्क के लिए मुनासिब नहीं है. ये मुल्क गंगा जमुना तहजीब की है. हम मुल्क में अग्ग्रेमेन्ट के तहत रह रहे है जो संविधान के तहत आता है. संविधान हमे अपने धर्म के हिसाब से रहने की इजाजत देता है. अगर इससे छेड़छाड़ करते है तो संविधान के साथ होगा. ये किसी एक सोच को लागू किया जा रहा है. हर बात मैं अमरीका का जय कहा जाता है। अमरीका में सभी स्टेट में अलग अलग कानून है.
 
(वीडियो में देखें पूरा शो)
First Published | Thursday, October 13, 2016 - 22:55
For Hindi News Stay Connected with InKhabar | Hindi News Android App | Facebook | Twitter
Web Title: Muslim personal law board supports teen talaq but not supports Uniform Civil Code why
(Latest News in Hindi from inKhabar)
Disclaimer: India News Channel Ka India Tv Se Koi Sambandh Nahi Hai

Add new comment

CAPTCHA
This question is for testing whether or not you are a human visitor and to prevent automated spam submissions.

फोटो गैलरी

  • उत्तराखंड के बद्रीनाथ मंदिर में राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी
  • मुंबई के केलु रोड स्टेशन पर एक ट्रेन में सवार अभिनेता विवेक ओबेरॉय
  • मुंबई में अभिनेत्री सनी लियोन "ज़ी सिने पुरस्कार 2017" के दौरान प्रदर्शन करते हुए
  • सूफी गायक ममता जोशी, पटना में एक कार्यक्रम के दौरान प्रदर्शन करते हुए
  • लखनऊ में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बधाई देते प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी
  • मुंबई में आयोजित दीनानाथ मंगेसकर स्मारक पुरस्कार समारोह में अभिनेता आमिर खान
  • चेन्नई बंदरगाह पर भारतीय तटरक्षक बल आईसीजीएस शनाक का स्वागत
  • आगरा में ताजमहल देखने पहुंचे आयरलैंड के क्रिकेटर
  • अरुणाचल प्रदेश में सेला दर्रे पर भारी बर्फबारी का एक दृश्य
  • कोलकाता के ईडन गार्डन में वंचित बच्चों की मदद के लिए क्रिकेट खेलने पहुंचे पूर्व क्रिकेटर टीएमसी मंत्री लक्ष्मी रतन सुक्ला