नई दिल्ली: फॉक्सवेगन पोलो के फैंस के लिए एक अच्छी खबर है. पोलो हैचबैक में ड्यूल एयरबैग तो पहले से ही सभी वेरिएंट में स्टैंडर्ड आते थे. अब इसमें एंटी लॉक ब्रेकिंग सिस्टम (एबीएस) भी बेस वेरिएंट से स्टैंडर्ड मिलेगा. कंपनी ने इसकी जानकारी वेबसाइट पर पोलो के नए ब्रोशर में दी है.
 
एंटी लॉक ब्रेकिंग सिस्टम के कारण सड़क पर पहियों की ग्रिप बनी रहती है. अचानक ब्रेक लगाने पर कार सड़क से फिसलती नहीं है और तुरंत रुक जाती है. जो लोग सेफ्टी पर ज्यादा ध्यान देते हैं, उन्हें एबीएस फीचर से लैस कार जरूर लेनी चाहिए. वैसे पैसेंजर सेफ्टी के मामले में पोलो हैचबैक को सेगमेंट में सुरक्षित कार माना जाता है. इसे साल 2014 में ग्लोबल एनसीएपी के क्रैश टेस्ट में सेफ्टी के मामले में 4-स्टार रेटिंग मिल चुकी है.
 
बलेनो और इटियॉस लीवा में ही ये फीचर
भारत में इस सेगमेंट की कारों में फॉक्सवेगन पोलो, मारूति सुज़ुकी बलेनो और टोयोटा इटियॉस लीवा ये तीन ही कारें है, जिनमें एबीएस और ड्यूल एयरबैग दोनों फीचर स्टैंडर्ड दिए गए हैं. इनके अलावा आई20 में भी ड्यूल एयरबैग स्टैंडर्ड है, लेकिन इसके बेस वेरिएंट में एबीएस फीचर नहीं दिया गया है. वहीं होंडा जैज़ में एबीएस फीचर केवल डीज़ल वेरिएंट में ही स्टैंडर्ड दिया गया है.
 
वैसे, भारतीय कार उपभोक्ताओं की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए केंद्र सरकार भी काफी सक्रियता से काम रही है. भारत में अक्टूबर 2018 से सभी कारों में सुरक्षा के लिए ड्यूल फ्रंट एयरबैग और एबीएस देना अनिवार्य हो जाएगा.