नई दिल्ली. 92 साल से भारत में हिंदु धर्म और समाज की सेवा करने वाला गोरखपुर का गीता प्रेस इस समय मुश्किल में है. यहां प्रबंधन और कर्मचारियों के बीच गहरा विवाद चल रहा है जिसके कारण कई दिनों से यहां काम-काज रुका पड़ा है.
 
इंडिया न्यूज शो अर्ध-सत्य में मैनेजिंग एडिटर राणा यशवंत से बात करते हुए कर्मचारियों ने कहा कि उन्हें इस बात का दु:ख है कि उनकी कड़ी मेहनत के बावजूद प्रेस प्रबंधन उन्हें कम मेहनताना देती है. इसी को लेकर जब 7 अगस्त को गीता प्रेस कर्मचारी प्रबंधक से मिलने गए तो वहां बकझक और बदतमीजी के बेबुनियाद आरोप के बाद 17 कर्मचारियों को निलंबित कर दिया गया. दूसरी तरफ गीता प्रेस के ट्रस्टी का कहना है कि कर्मचारियों को उनकी अनुशासहीनता के कारण निलंबित किया गया है.
 
वीडियो पर क्लिक करके देखिए पूरा शो: