नई दिल्ली. पूरे देश में नवरात्रि की धूम है. 11 अक्टूबर को रावण दहन के साथ-साथ दशहरा भी मनाया जाएगा. ऐसे में हम आपको भगवान राम के ऐसे सबूतों के बारे में बताएंगे जिन्हें आप शायद ही जानते हैं.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
भारतीय समाज में मनुष्यों को भटकाव से रोकने के लिए जिस सबसे मजूबत को सामने रखा गया वे हैं मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान राम. जिस तरह लोग राम के इतिहास को जानने के लिए बेचैन रहते हैं उतना ही बेचैने राम के गुणों को भी अपने भीतर अंदर उतारने की जरूरत है.
 
मान्यता के अनुसार महर्षि विश्वामित्र अयोध्या से भगवान राम और लक्ष्मण के साथ बिहार के बक्सर गंगा किनारे पहुंचे थे. वहां एक राम रेखा घाट है जहां राम ने भगवान शिव की पूजा की. आज हम आपको अयोध्या से आगे भगवान राम के होने का सबूत बताएंगे जिसके लिए कई लंबे शोध किए गए हैं. राम से जुड़े सबूतों के लिए वीडियो में देखें पूरा शो.