हरिद्वार. योग भारत और नेपाल में एक आध्यात्मिक प्रकिया हैं जिसमें शरीर, मन और आत्मा को एक साथ लाने (योग) का काम होता है. माना जाता है कि योग एक ऐसा उपहार है जो कि दिमाग और शरीर की एकता का प्रतीक भी है. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
देश में  21 जून 2016 को दुनिया भर में दूसरा अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया जाएगा जिसमें लाखों की तादाद में लोग हिस्सा लेंगे. 21 जून 2015 को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया गया जिसका हिस्सा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी बने. 
 
इस बीच योग को सबसे ज्यादा महत्व और दुनियाभर में बढ़ावा देने वाले बाबा रामदेव ने अपना ‘योगग्राम’ बनाया हुआ है. हरिद्वार से 30 किलोमीटर दूर और 150 एकड़ फैले हुए इस योगग्राम में सैकड़ों की तादाद में लोग रोज योग करते हैं. रामदेव के योगग्राम में लोगों को योग सिखाने के लिए शिक्षक भी उपलब्ध कराए जाते हैं.
 
बता दें कि योगग्राम में लोगों की बीमारियों दूर करने और स्वस्थ रखने के लिए योग कराया जाता है. यहां उनकी दिनचर्या के लिए निर्देश दिए जाते हैं जिसमें कब क्या खाना है, कब उठना है, कब सोना है, ये सब बताया जाता है. साथ ही यहां पर लोगों को दवाइयां दी जाती है जिनमें एलोपैथिक की कोई भूमिका नहीं होती.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
इंडिया न्यूज के शो ‘अर्ध सत्य’ में मैनेजिंग एडिटर राणा यशवंत आपकों बताएंगे कि योगग्राम में लोगों की दिनचर्या कैसी होती है साथ ही योगग्राम योग को बढ़ावा देने में क्या भूमिका निभा रहा है.
 
वीडियो पर क्लिक करके देखिए पूरा शो