नई दिल्ली. दिल्ली एनसीआर में बोतल बंद पानी की शक्ल में बीमारियां बेची जा रही हैं. स्वास्थ्य विभाग ने दिल्ली एनसीआर की वॉटर प्लांट के नमूने लिए, परेशान करने वाली बात ये है कि ये नमूने जांच में फेल हो गए.
 
इसका सीधा सा मतलब ये है कि स्कूल में, दफ्तरों में, घरों में जो बोतल बंद पानी भेजा जा रहा है. वह पीने लायक नहीं है. पहला मामला गाज़ियाबाद से जुड़ा है जहां करीब आधा दर्जन ऐसे स्कूल हैं जिनमें सप्लाई किया जाने वाला पानी खतरनाक है. यहां  कुछ स्कूलों में पीने के लिए सर्व होने वाले पानी के सैम्पल लिए गए हैं. उनमे से कई स्कूलों के नमूने फेल हो गए हैं.
 
वीडियो पर क्लिक करके देखिए पूरी रिपोर्ट: