नई दिल्ली. आज अभियान में चर्चा ऐसे लोगों की गई है जिन्होंने  हालातों से लड़ते हुए अपने सपने पूरे किए. दरअसल अगर मन में कुछ कर गुज़रने का जुनून हो, तो मंजिलें आपके कदम चूम लेती हैं. अगर दिल में हौसला है तो कोई काम नामुमकिन नहीं.

एक शख्स ने आपराधिक बस्ती को सरकारी कर्मचारियों की बस्ती में बदल दिया.जो खुद मुफलिसी में पला बढ़ा, रेलवे स्टेशन मास्टर बना,और उसके बाद गरीब बच्चों को पढ़ाने का अभियान शुरु किया.

वहीं, हरियाणा के एक बेटी ने अपने हौसले से माउंट एवरेस्ट की ऊंचाई को तो बौना कर दिया. मगर सरकार की गैरज़िम्मेदाराना रवैये ने इसे हताश कर दिया. देखिए अभियान: